प्रेम और समर्थन:

भाई दूज के दिन, भाई और बहन के बीच प्रेम और समर्थन का एक अद्वितीय वातावरण होता है।

भाई का सम्मान:

भाई का सम्मान

भाई के प्रति आदर और सम्मान का अभिवादन करना भी महत्वपूर्ण है। भाई को उसकी महत्वपूर्णता का एहसास होना चाहिए।

भाई-बहन के बीच खेल-मेल

भाई दूज के मौके पर भाई-बहन को समय बिताने का एक शानदार अवसर मिलता है। वे मिलकर खेल-मेल, हंसी-मज़ा का आनंद लेते हैं।

भाई-बहन को एक दूसरे के साथ अपने अच्छे-बुरे समय का एक छोटा सा संबंध बनाए रखना चाहिए।

भाई दूज के दिन, बहन अपने भाई के लिए पूजा और स्नान करके उसकी लंगुरादिक सुरक्षा के लिए प्रार्थना करती है।

भाई दूज के पीछे एक कई महत्वपूर्ण कहानियाँ हैं, जैसे यमराज और यमुना की कहानी। इनको जानना और साझा करना भी एक अच्छा विचार है।

उपहार और आशीर्वाद:

भाई दूज पर भाई को एक छोटा सा उपहार देना और उसे आशीर्वाद देना चाहिए। इससे भाई-बहन के बीच प्यार और समर्थन का मौद्रिक बढ़ता है।