Durga Chalisa PDF | दुर्गा चालीसा FREE Download 2023

इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको Durga Chalisa PDF in hindi and English मुफ्त में उपलब्ध करा रहे हैं, साथ ही Durga Chalisa PDF से जुड़ी संपूर्ण जानकारी विस्तृत रूप से इस आर्टिकल में उपलब्ध है कृपया इस आर्टिकल को आप अंत तक पढ़े जिससे आपको सभी प्रश्नों के उत्तर मिल जाएंगे।

दुर्गा चालीसा का पाठ करना हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण होता है जब हम किसी भी दुविधा में होते हैं तो हम मां दुर्गा को याद करते हैं और उनसे उम्मीद रखते हैं कि मां दुर्गा अपने आशीर्वाद से हमारे कासन को हर लेंगे और सभी दुखों का निवारण कर देइंगी।

Durga Chalisa PDF
Durga Chalisa PDF
यह भी पढ़िए- Bhole Nath Chalisa PDF Free Download

Durga Chalisa PDF: Details

PDF NameDurga Chalisa PDF Download Now
CategoryReligion
Size0.25 MB
Pages03
Website Linkwww.pdfsamadhan.com
Durga Chalisa PDF Download Now!
DOWNLOAD N0W!

Durga Chalisa PDF

दोस्तों जैसा कि आपको पता है दुर्गा चालीसा को हम मां दुर्गा को प्रसन्न करने के लिए करते हैं साथ ही उनका आशीर्वाद सदैव हमारे परिवार पर बना रहे, दुर्गा चालीसा का पाठ हमें प्रतिदिन करना चाहिए व हो सके तो दिन में दो से अधिक बार पाठ करें ताकि आपके घर कुशलता बनी रहे।

और यदि नवरात्रि का समय चल रहा है तो आप दुर्गा चालीसा का पाठ किसी भी समय कर सकते हैं, जरूरी नहीं है कि आपको दुर्गा चालीसा का पाठ से पढ़कर करना है आजकल तो युटुब वीडियो के माध्यम से भी हम दुर्गा चालीसा को सुन लेते हैं और उनका पाठ कर लेते हैं।

मां दुर्गा की पूजा बिना पाठ करें अधूरी मानी जाती है इसलिए आपको यह ध्यान रखना है मां दुर्गा की पूजा रोज सुबह-शाम को करना अति आवश्यक है यदि आप रोज मां दुर्गा की पूजा करते हैं तो आपकी मनोकामनाएं जल्द ही पूरी हो जाती हैं।

सबसे महत्वपूर्ण होता है जब हम कोई भी कार्य कर रहे होते हैं तो हम गाली वक्त में गाने गुनगुनाते हैं, और उससे हमें कोई लाभ नहीं होता है परंतु सोचिए अगर हम इस समय मां दुर्गा का मंत्र “या देवी सर्वभूतेषु” का जाप करें तो उसे कितना लाभ होगा वह हमारे आसपास कितनी सकारात्मक ऊर्जा उत्पन्न होगी जिससे हम अपने व्यक्तिगत जीवन में पूर्ण रूप से कार्य कर सकेंगे और कुशल जीवन का लाभ ले सकेंगे।

आपकी सुविधा के लिए हमने, इस पैराग्राफ के नीचे मां दुर्गा की आर्तियां लिखी है जिन्हें आप पढ़ सकते हैं और यदि आप पूजा करने जा रहे हैं तो उनका पाठ भी कर सकते हैं।

Durga Chalisa PDF Download in Hindi

दुर्गा चालीसा FREE Download 2023

Durga Chalisa in Hindi: Arti 01

ॐ सर्वमंगलमांगल्ये शिवे सर्वार्थसाधिके।
शरण्ये त्र्यम्बके गौरि नारायणि नमोऽस्तु ते॥

॥ श्री दुर्गा चालीसा ॥

नमो नमो दुर्गे सुख करनी।
नमो नमो दुर्गे दुःख हरनी॥

अम्बे अकिलंधकोठ वाली।
नाम जपते हुए वरदानी॥

अनुसूये चारु रूप धारी।
श्वेत पद्मासन भामिनी॥

वन्दे वांछित कामार्थि।
श्री शिवजी की दुल्हारिणी॥

नमो नमो जगदम्बे मात।
त्रैलोक्यतिमिरापाहे॥

नाशयतु तृषार्तिग्राहं।
भूतप्रेत पिशाचन।

शत्रुघ्नं रिपुसंहारिणी।
कालरात्रिं शिवात्मिके॥

नमो नमो दुर्गे सुख करनी।
नमो नमो दुर्गे दुःख हरनी॥
(Durga Chalisa PDF)
तारिणि अमित नायिका।
मोहिनी चक्र वर्तिनी॥

चित्रवल्लरी भूषणे।
विचित्रबूतिर्भूषणे॥

मन्त्र योगिनि महिमा।
गोपियों की वल्लरी॥

शारदा भवानी श्री शिव शंकरा।
भक्तन के बहुतुम दुःखहारिनी॥

ज्वाला में है ज्योतिर्मयी तुम्हारी।
तुम्ही दुर्गा विद्या शिव धामिनी॥

नमो नमो दुर्गे सुख करनी।
नमो नमो दुर्गे दुःख हरनी॥

भुक्ति मुक्ति दायिनी भवसागर की नायिका।
रोग हरता भाग्य सुख दाता तुम्ही हो मात।

वाचा मना सच्चे हो तुम्हारे।
मंदिर में तुम ही माता कहलाते॥

नमो नमो दुर्गे सुख करनी।
नमो नमो दुर्गे दुःख हरनी॥

भूतप्रेत पिशाचन नहीं आवे।
महाकाल वे तुम से बचावे॥

मातृरूप महाकालिनि जगप्रेमी।
दुष्टदूत दुर्गासन भगवती॥

नमो नमो दुर्गे सुख करनी।
नमो नमो दुर्गे दुःख हरनी॥

दोहा

नमो नमो दुर्गे सुख करनी।
नमो नमो दुर्गे दुःख हरनी॥

Durga Chalisa in Hindi: Arti 02 (Durga Chalisa PDF)

ॐ जय अम्बे गौरी, मैया जय श्यामा गौरी ।
तुमको निशदिन ध्यावत, मैया जी को सदा मनावत, हरि ब्रह्मा शिवरी ।।
ॐ जय अम्बे गौरी ।

मांग सिंदूर विराजत, टीको मृगमद को ।
उज्ज्वल से दोउ नैना, निर्मल से दोउ नैना, चन्द्रबदन नीको ।।
ॐ जय अम्बे गौरी ।

कनक समान कलेवर,,रक्ताम्बर राजै ।
रक्त पुष्प गलमाला, लाल कुसुम गलमाला, कण्ठन पर साजै ।।
ॐ जय अम्बे गौरी ।
केहरि वाहन राजत, खड़ग खप्परधारी ।
सुर नर मुनिजन सेवत, सुर नर मुनिजन ध्यावत, तिनके दुखहारी ।।
ॐ जय अम्बे गौरी ।

कानन कुण्डल शोभित, नासाग्रे मोती ।
कोटिक चन्द्र दिवाकर, कोटिक चन्द्र दिवाकर, सम राजत ज्योति ।।
ॐ जय अम्बे गौरी ।

शुम्भ निशुम्भ विडारे, महिषासुर घाती ।
धूम्र विलोचन नैना, मधुर विलोचन नैना, निशदिन मदमाती ।।
ॐ जय अम्बे गौरी ।
चण्ड मुण्ड संघारे, शोणित बीज हरे ।
मधुकैटभ दोउ मारे, मधुकैटभ दोउ मारे, सुर भयहीन करे ।।
ॐ जय अम्बे गौरी ।

ब्रह्माणी रुद्राणी तुम कमला रानी ।
आगम निगम बखानी, चारों वेद बखानी, तुम शिव पटरानी ।।
ॐ जय अम्बे गौरी ।

चौसठ योगिनी गावत, नृत्य करत भैरू ।
बाजत ताल मृदंगा, बाजत ढोल मृदंगा, अरु बाजत डमरू ।।
ॐ जय अम्बे गौरी ।

तुम हो जग की माता, तुम ही हो भर्ता ।
भक्तन की दुख हरता, संतन की दुख हरता, सुख-सम्पत्ति करता ।।
ॐ जय अम्बे गौरी ।

भुजा चार अति शोभित, वर मुद्रा धारी ।
मनवांछित फल पावत, मनइच्छा फल पावत, सेवत नर नारी ।।
ॐ जय अम्बे गौरी ।
कंचन थाल विराजत, अगर कपूर बाती ।
श्री मालकेतु में राजत, धोळा गिरी पर राजत, कोटि रतन ज्योति ।।
ॐ जय अम्बे गौरी ।

श्री अम्बे जी की आरती, जो कोई नर गावै, मैया प्रेम सहित गावें ।
कहत शिवानन्द स्वामी, रटत हरिहर स्वामी, मनवांछित फल पावै ।।

ॐ जय अम्बे गौरी, मैया जय श्यामा गौरी ।
तुमको निशदिन ध्यावत , मैया जी को सदा मनावत, हरि ब्रह्मा शिवरी ।।
ॐ जय अम्बे गौरी ।

Durga Chalisa PDF in English

Durga Chalisa PDF in English: Arti 01 (Durga Chalisa PDF)

Namo Namo Durgе sukh karni।
Namo Namo Durgе dukh harani॥

Ambе akilаndhаkoth vаli।
Nаm jаpte huе vаrdаni॥

Anusuyе chаru rup dhаri।
Shwеt pаdmаsаn bhаmini॥

Vаndе vаnchhit kаmаrthi।
Shri Shivji ki dulhаrini॥

Namo Namo Jagdаmbе mаt।
Trаilokyаtimirаpаhе॥

Nаshаyаtu trishаrtigrаhаm।
Bhootprеt pishаchаn।

Shаtrughnаm ripusаnhаrini।
Kаlаrаtrim Shivаtmikе॥

Namo Namo Durgе sukh karni।
Namo Namo Durgе dukh harani॥

Tаrini аmit nаyikа।
Mohini chаkrvаrtini॥

Chitrvаllаri bhushаnе।
Vichitrаbhootirbhushаnе॥

Mаntr yogini mаhimа।
Gopiyon ki vаllаri॥

Shаrаdа bhаvаni Shri Shiv Shаnkаrа।
Bhаktаn kе bаhutum dukhhаrini॥

Jwаlа mеin hаi jyotirmаyi tumhаri।
Tumhi Durgа vidyа Shiv dhаmini॥

Namo Namo Durgе sukh karni।
Namo Namo Durgе dukh harani॥

Tаrinia Amit nаyikа।
Mohini chаkrvаrtini॥

Chitrаvаllаri bhushаnе।
Vichitrаbhootirbhushаnе॥

Mаntr yogini mаhimа।
Gopiyon ki vаllаri॥

Shаrаdа bhаvаni Shri Shiv Shаnkаrа।
Bhаktаn kе bаhutum dukhhаrini॥

Jwаlа mеin hаi jyotirmаyi tumhаri।
Tumhi Durgа vidyа Shiv dhаmini॥

Namo Namo Durgе sukh karni।
Namo Namo Durgе dukh harani॥

Bhukti mukti dаyini bhаv sаgаr ki nаyikа।
Rog hаrtа bhаgy sukh dаtа tumhi ho mаt।

Vаchа manа sаchе ho tumhаrе।
Mаndir mein tum hi mаtа kаhlаtе॥

Namo Namo Durgе sukh karni।
Namo Namo Durgе dukh harani॥

Bhootprеt pishаchаn nаhi ааvе।
Mahаkаl vе tum se bаchаvе॥

Mаtrrup Mahаkаlini Jagprеmi।
Dushtadoot Durgаsаn Bhаgаvati॥

Namo Namo Durgе sukh karni।
Namo Namo Durgе dukh harani॥

दोहा

Namo Namo Durgе sukh karni।
Namo Namo Durgе dukh harani॥

Durga Chalisa PDF in English: Arti 02 (Durga Chalisa PDF)

"Om Jai Ambe Gauri, Maiya Jai Shyama Gauri.
Tumko Nishadin Dhyaavat, Maiya Ji Ko Sada Manaavat, Hari Brahma Shivari.
Om Jai Ambe Gauri.

Maang Sindoor Virajat, Tikko Mrigmad Ko.
Ujjwal Se Dou Naina, Nirmal Se Dou Naina, Chandrabadan Niko.
Om Jai Ambe Gauri.

Kanak Saman Kalevar, Raktambar Rajai.
Rakt Pushp Galamala, Lal Kusum Galamala, Kanthan Par Saajai.
Om Jai Ambe Gauri.
Kehari Vahan Rajat, Khadag Khapparadhari.
Sur Nar Munijan Sevat, Sur Nar Munijan Dhyaavat, Tinke Dukhahaari.
Om Jai Ambe Gauri.

Kanan Kundal Shobhit, Naasaagre Moti.
Kotik Chandr Divakar, Kotik Chandr Divakar, Sam Rajat Jyoti.
Om Jai Ambe Gauri.

Shumbh Nishumbh Vidaare, Mahishaasur Ghaati.
Dhumra Vilochan Naina, Madhur Vilochan Naina, Nishadin Madamaati.
Om Jai Ambe Gauri.
Chand Mund Sanghaare, Shonit Beej Hare.
Madhukaitabh Dou Maare, Madhukaitabh Dou Maare, Sur Bhayahin Kare.
Om Jai Ambe Gauri.

Brahmani Rudraani Tum Kamala Raani.
Aagam Nigam Bakhaani, Chaaron Ved Bakhaani, Tum Shiv Patarani.
Om Jai Ambe Gauri.

Chausath Yogini Gaavat, Nritya Karat Bhairu.
Baajat Taal Mridanga, Baajat Dhol Mridanga, Aru Baajat Damaru.
Om Jai Ambe Gauri.

Tum Ho Jag Ki Maata, Tum Hi Ho Bharta.
Bhakton Ki Dukh Harata, Santan Ki Dukh Harata, Sukh-Sampatti Karata.
Om Jai Ambe Gauri.

Bhuja Char Ati Shobhit, Var Mudra Dhari.
Manvanchhit Phal Pavat, Man Ichha Phal Pavat, Sevat Nar Nari.
Om Jai Ambe Gauri.
Kanchan Thaal Virajat, Agar Kapoor Baati.
Shri Malketu Mein Rajat, Dhol Giri Par Rajat, Koti Ratan Jyoti.
Om Jai Ambe Gauri.

Shri Ambe Ji Ki Aarti, Jo Koi Nar Gaavai, Maiya Prem Sahit Gaave.
Kahat Shivanand Swami, Ratat Harihara Swami, Manvanchhit Phal Pavai.

Om Jai Ambe Gauri, Maiya Jai Shyama Gauri.
Tumko Nishadin Dhyaavat, Maiya Ji Ko Sada Manaavat, Hari Brahma Shivari.
Om Jai Ambe Gauri."

Durga Chalisa PDF in English and Hindi: Video

FAQ: Durga Chalisa PDF Download

दुर्गा चालीसा को रोज पढ़ने से क्या होता है?

दुर्गा चालीसा को रोज पढ़ने से आपकी आसपास सकारात्मक ऊर्जा का निर्वहन होता है।

क्या दुर्गा चालीसा सभी को पढ़नी चाहिए?

जी हां, यदि आप हिंदू धर्म में मानते हैं या नहीं भी मानते हैं तो आप दुर्गा चालीसा का पाठ कर सकते हैं।

क्या मैं दुर्गा चालीसा कहीं भी पढ़ सकता हूं?

हां, आप दुर्गा चालीसा पाठ कहीं भी कर सकते हैं।

Last Words

इस आर्टिकल में हमने आपको Durga Chalisa PDF से जुड़ी समझते जानकारी प्रदान की उम्मीद है आपको यह जानकारी पसंद आई होगी, यदि आपको इस Durga Chalisa PDF in hindi जानकारी में कोई कमी नजर आती है तो आप हमें कमेंट कर अवश्य बताएं हम अपनी गलती को जल्द से जल्द सुधरने का प्रयास करेंगे।

और यदि आप हमसे कुछ भी, पूछना चाहते हैं तो आप हमें सोशल मीडिया पर मैसेज कर सकते हैं हम आपके मैसेज का रिप्लाई चलते जल्द करेंगे।

धन्यवाद

Also, read

Leave a comment