[2023]Case Study File For B ed in Hindi PDF FREE Download

दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम आपको Case Study File For b ed in Hindi PDF मुफ्त में उपलब्ध करवाने वाले, यदि आप B.Ed कर रहे हैं तो यह PDF आपके लिए बहुत उपयोगी साबित होने वाली है,

जब हमारे एग्जाम खत्म हो जाते हैं उसके बाद यह केस स्टडी फाइल बनवाई जाती है और इसमें हमें सरकारी व गैर सरकारी स्कूलों में पढ़ रहे बच्चों, के घर-घर जाकर हमें उनका डाटा एकत्रित कर कॉलेज में दिखाना होता है।

यह भी पड़े- साइकोलॉजी हिंदी नोट्स FREE PDF Download 2023-24

तो दोस्तों, आज की इस पोस्ट में हम आपको स्टेप बाय स्टेप Case Study File For b ed in Hindi PDF Download निशुल्क उपलब्ध कराने वाले हैं,

PDF DOWNLOAD करने के लिए आप नीचे दिए गए डाउनलोड बटन पर क्लिक कर आसानी से PDF डाउनलोड कर सकते हैं।

Case Study File For b ed in Hindi PDF Download

 Case Study File For b ed in Hindi PDF Download
[2023] Case Study File For b ed in Hindi PDF Download
PDF NameCase Study File For b ed in Hindi PDF Download
CategoryEducation
Size4.12 MB
Pages11
Website linkwww.pdfsamadhan.com
Download linkAvailable
Case Study File For b ed in Hindi PDF Download
DOWNLOAD NOW

Case Study File क्या है?

सबसे पहले हम यह जान लेते हैं कि Case Study File होती क्या है? और इसके बनाने के लिए हमें किस-किस प्रकार की जानकारी की आवश्यकता होती है, तो दोस्तों आईए जानते हैं Case Study File For b ed in Hindi PDF Download के बारे में,

जब हम इंटर्नशिप कर रहे होते हैं तब यह Case Study File बनानी पड़ती है, इसको बनाने के लिए हमें अपने आसपास के प्राथमिक एवं माध्यमिक स्कूलों के बच्चों के बारे में केस स्टडी फाइल बनानी होती है।

जिस छात्र का चयन हम Case Study File For b ed in Hindi PDF Download बनाने के लिए करते हैं, उस छात्र के बारे में संपूर्ण जानकारी प्राप्त करने के उपरांत उसको डायरी में नोट करना होता है,

केस स्टडी फाइल में हम छात्र के व्यवहार, छात्र का आचरण, छात्र की पढ़ाई लिखाई, छात्र की रुचि, छात्र के लक्ष्य, आदि से जुड़ी तमाम महत्वपूर्ण जानकारी हम छात्र तथा उसके माता-पिता से प्राप्त कर उसको डायरी में नोट करते हैं।

Case Study File कैसे बनाएं?

Case Study File बनाने के लिए आपको लेखन सामग्री की आवश्यकता पड़ती है और साथ ही महत्वपूर्ण जानकारी एवं अच्छी लेखन शैली, आपको Case Study File में अच्छे अंक प्राप्त करवाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है।

आईए जानते हैं Case Study File कैसे बनाएं-

सबसे महत्वपूर्ण तो यह है कि आप Case Study File बनाने से पहले अपनी सभी महत्वपूर्ण डायरी नोट को एकत्रित कर लें और उसमें लिखी छात्रों एवं छात्राओं की जानकारी को रीचेक कर ले,

इससे यह होगा कि यदि किसी छात्र एवं छात्र की कोई जानकारी गलत दर्ज हुई होगी तो आपको रिचेकिंग के दौरान पता चल जाएगा,

और जब आप रिचेकिंग कर रहे होंगे, तब आप उन छात्रों के माता-पिता से बात करके उनके बारे में दी गई जानकारी को रीचेक कर सकते हैं।

Case Study File बनाने में सबसे महत्वपूर्ण होता है Case Study File For b ed in Hindi PDF Download मैं अपने अच्छी लेखन शैली का उपयोग किया है या नहीं, क्योंकि ज्यादातर प्रशिक्षु गलत तरीके से फाइल को लिखते हैं, जिसके कारण उन्हें एग्जामिनर द्वारा अच्छे अंक नहीं दिए जाते हैं।

तो दोस्तों आपको Case Study File For b ed in Hindi PDF Download बनाते समय इन सभी बिंदुओं पर ध्यान देना है, और अच्छी लेखन शैली का प्रदर्शन करना है।

यह भी जरूर पड़े- UP Police GK Questions PDF in Hindi 2023 Free

Case Study File बनाने का सही Format क्या है?

जैसा कि आप सभी जानते हैं कि इस आर्टिकल में Case Study File For b ed in Hindi PDF Download आपको मुफ्त में उपलब्ध करवा रहे हैं साथ ही आपको केस स्टडी फाइल से जुड़ी तमाम महत्वपूर्ण जानकारी फ्री में प्रदान कर रहे हैं।

आईए जानते हैं Case Study File बनाने का सही Format क्या है।

प्रशिक्षु का विवरण

इसमें हम अपना नाम, नामांकन, अध्ययन केंद्र का नाम व पता, विद्यालय का नाम व पता, लिखते हैं, जैसे-

प्रशिक्षु का नाम- अमन कुमार

नामांकन क्रमांक– 5002326132

अध्ययन केंद्र का नाम व पता- के.पी.जे डिग्री कॉलेज, मिराजगंज, आगरा

विद्यालय का नाम व पता– उच्च प्राथमिक विद्यालय, मीरा नगर चौकी, मिराजगंज, आगरा

छात्र का विवरण

इसमें हम छात्र का विवरण लिखते हैं जैसे-

छात्र का नाम- राहुल शेखावत

जन्मतिथि- 10-05-2010

लिंग- पुरुष

अभिभावक का नाम- धीरेंद्र शेखावत

कक्षा का नाम- 05

पत्र व्यवहार का पता- ग्राम मोतीपुर, पड़रिया चौराहा, आगरा

माता-पिता की मासिक आय- 22000

पिता / अभिभावक का कार्य क्षेत्र- टिक्की-बतासे का ठेला लगाते हैं

मां का कार्य क्षेत्र एवं योग्यता- कक्षा 8 तक पड़ी है एवं ग्रहणी है

भाइयों व बहनों की संख्या- तीन भाई वह एक बहन

अपने भाई बहनों के बीच मूल्य स्थिति- राहुल सबसे बड़ा है

समस्या और समाधान का विवरण

केस स्टडी का मुख्य उद्देश्य बच्चों के सभी पक्षों से भली भांति परिचित होना है, जैसा की बच्चों में छुपी हुई कमजोरी को उजागर करना और उन्हें आने वाली चुनौतियों के प्रति उत्साहित करना है,

विद्यालय की गतिविधियों में बच्चों का हिस्सा ना लेना, बच्चों की शारीरिक गतिविधि प्रभावित होने, बच्चों का ठीक से ना चल पाना, इत्यादि कारण का पता लगाकर उसे दूर करने का प्रयास तथा उसमें सकारात्मक पहलुओं पर विकास करना यही केस स्टडी की समस्या और समाधान का विवरण है।

समस्या की प्रकृति

इस बिंदु में हम समस्या की प्रकृति को विस्तार पूर्वक समझते हैं एवं उसको ठीक करने की सुझाव लिखते हैं।

यदि छात्र शैक्षिक तथा गैर शैक्षिक गतिविधियों में बढ़ चढ़कर भाग नहीं लेता है तो यह समस्या की प्रकृति होती है, छात्र के कुछ विषयों में कम नंबर आना और पढ़ने में मन ना लगा यह भी समस्या की प्रकृति होती है।

यदि छात्र अपना कार्य समय से ना कर कर देरी से कर रहा है तो वह समयबद्धता का शिकार हो रहा है, इसमें आपको छात्र के बारे में और जानकारी लेकर उसमें सुधार लाने का प्रयास करना है।

यदि छात्र हमेशा सोच विचार करता रहता है तो वह मनोभाव व मनोरंजन से दूर हो चुका है, आपको छात्र को समझाना है और रचनात्मक रूप से उसको मनोरंजन के इर्द-गिर्द ले जाकर उससे बातचीत कर, खेलकूद कर, छात्र के अंदर रुचि को बढ़ावा देना है।

अगर छात्र बोलने सुनने पढ़ने लिखने में कतराता है, तो आप उससे खुलकर बात करें और उसके बारे में और जानने का प्रयास करें, ताकि वह मुख न रहकर अपने जीवन में आगे बढ़ सके।

छात्र की समस्याओं के संभावित कारण

इस बिंदु में आप छात्रा से संबंधित कर्म को विस्तार पूर्वक लिखेंगे जैसे-

  • मार्गदर्शन व परामर्श का अभाव होना
  • छात्र के शरीर में कोई समस्या होना
  • शिक्षक से कुछ पूछने में डरना
  • आर्थिक स्थिति सही ना होना
  • पारिवारिक शिक्षा में कमी होना
  • व्यक्तिगत भिन्नता से अनिवार्य होना
  • छात्र के मित्र ना होना

छात्र की क्षमताएं

  • छात्र खेलों में रुचि रखता है
  • छात्र कंप्यूटर गेम्स में रुचि रखता है
  • छात्र की स्मृति क्षमता प्रबल है
  • छात्र घरेलू कामों में आगे रहता है
  • छात्र का व्यावहारिक है

छात्र के माता-पिता से बातचीत

जब हम छात्रा से उसके बारे में जानकारी लेते हैं तब छात्र घबराहट, डर, की वजह से हमसे झूठ भी बोल देता है, तो इसलिए हमें छात्र द्वारा दी गई जानकारी को उसके माता-पिता से बातचीत कर री वेरीफाई करते हैं।

माता-पिता से बातचीत करते समय हमें ध्यान रखना होता है कि हम छात्रा के बारे में उसके सकारात्मक एवं नकारात्मक पहलुओं पर चर्चा करें क्योंकि माता-पिता से ज्यादा छात्र के बारे में शायद ही किसी को पता होता है।

तो इसलिए छात्र के माता-पिता से बातचीत कर हम उसे डायरी में नोट कर लेते हैं उसके उपरांत जो जानकारी हम माता-पिता से प्राप्त करते हैं उसे केस स्टडी फाइल में, लिखते हैं।

माता-पिता से बात करते समय आपको उनके बारे में भी पूछना चाहिए जैसे, वह कितने पढ़े लिखे हैं, वह क्या काम करते हैं, वह कहां के रहने वाले हैं, वह उनकी माता क्या करती हैं, वह कितनी पढ़ी लिखी हैं, बच्चों के भाई-बहन कितने पढ़े लिखे हैं, इस प्रकार के तमाम प्रश्नों को आप छात्र के माता-पिता से करते हैं।

यह भी जरूर पड़े- 50000 GK Question PDF in Hindi Free Download [2023]

छात्र के साथ किए गए कार्य का विवरण

इस बिंदु में हम छात्र के साथ किए गए कार्य विवरण के बारे में लिखते हैं जैसे-

बच्चों के माता-पिता वह अभिभावकों से मिलकर आस-पास के अन्य सदस्यों से मिलकर बच्चों की विभिन्न समस्याओं को खुलकर चर्चा की गई,

जो कि घर का माहौल शांतिपूर्ण नहीं है घर में कलह के कारण पढ़ाई पर विपरीत प्रभाव पड़ता है, और जो छात्र के भाई-बहन हैं वह पढ़ने में उतने अच्छे नहीं है, छात्र समय पर गिरकर नहीं कर पा रहा है यह सभी बातें उसके घर वालों को समझाई गई और छात्र को प्रोत्साहित किया गया,

तथा अभिभावकों को भी उसे हमेशा प्रोत्साहित करते रहने को कहा गया बच्चों के सफल पक्ष उजागर करने का निर्णय लिया गया।

छात्र के साथ किए गए कार्य का प्रभाव

इसमें हम छात्र के साथ किए गए कार्य का प्रभाव लिखते हैं जैसे-

जब हमने बच्चों के अभिभावकों को शिक्षा का महत्व समझाया तो घर का माहौल बदल गया, मैंने उन्हें समझाया कि जहां शिक्षा होती है वहां कुशलता होती है, कभी भी अपने बच्चों में कमजोरी का बढ़ावा नहीं देना है फिर चाहे वह है, पढ़ाई से जुड़ी हो, शरीर से जुड़ी हो, इत्यादि।

अब वहां कभी कलह का माहौल नहीं बन सकता, अभिभावकों को समझ आने लगा है कि पढ़ाई का महत्व क्या होता है और साथ ही अपने बच्चों को किस प्रकार संभाला जाता है।

बच्चों को यह भी समझाया गया की शारीरिक भिन्नता को छोड़कर अपने अंदर मानसिक एवं तार्किक कौशलों को ध्यान में रखते हुए अपने जीवन में अच्छा करना है और आगे बढ़ाना है।

छात्र अब समय से स्कूल आ जाता है, और अपना कार्य संपूर्ण रूप से करता है, छात्र के अब मित्र भी बन चुके हैं और वह पढ़ाई लिखाई से लेकर खेलने कूदने में रुचि लेने लगा है।

इससे यह साबित होता है की बच्चों के सर्वांगीण विकास में माता-पिता, विद्यालय, समाज, शिक्षक, का सहयोग बहुत मायने रखता है एवं उम्मीद करते हैं कि आने वाले समय में बच्चों के माता-पिता इन बातों को ध्यान से समझेंगे और अपने बच्चों को अच्छी परवरिश देंगे।

FAQ- Case Study File For b ed in Hindi PDF

केस स्टडी फाइल क्या है?

इस फाइल में हम प्राथमिक तथा माध्यमिक स्कूलों के बच्चों के बारे में जानकारी प्राप्त कर फाइल में लिखते हैं।

केस स्टडी फाइल कैसे बनाएं?

केस स्टडी फाइल को बनाने के लिए सबसे पहले आपको छात्र के बारे में संपूर्ण जानकारी प्राप्त कर लेनी है उसके उपरांत केस स्टडी फाइल को बनाना है।

केस स्टडी फाइल में कितने नंबर मिलते हैं?

यह कोई निश्चित नहीं है सभी यूनिवर्सिटी अपने हिसाब से नंबर प्रदान करती हैं।

केस स्टडी फाइल कितने पेजों की बनाएं?

केस स्टडी फाइल 10 से 12 पेजों की बनाई जाती है।

B.Ed कैसे करें?

B.Ed करने के लिए आपको सबसे पहले अपने संस्थान को चुना है एवं उसका टेस्ट देना है।

Case Study File For b ed in Hindi PDF Download

दोस्तों नीचे दी गई लिंक पर क्लिक कर आप Case Study File For b ed in Hindi PDF Download की वीडियो को देख सकते हैं।

अंतिम शब्द

यदि आपको यह Case Study File For b ed in Hindi PDF Download पसंद आई हो तो आप हमें कमेंट कर बता सकते हैं और हमारी इस पीडीएफ Case Study File For b ed in Hindi PDF Download कर अपने फोन में सेव कर सकते हैं।

यदि आपको हमारी वेबसाइट www.pdf samadhan.com किसी प्रकार से लाभकारी लगी हो, तो आप हमारी इस वेबसाइट को बुकमार्क कर रख सकते हैं जिससे जब भी हम नई पोस्ट अपनी वेबसाइट पर करेंगे, जैसे अभी कर रहे हैं Case Study File For b ed in Hindi PDF Download तो आपको तुरंत इसका नोटिफिकेशन अपने फोन पर प्राप्त हो जाएगा।

यदि आपको किसी प्रकार की समस्या या कोई अन्य जानकारी की आवश्यकता हो तो आप हमें कमेंट कर बताएं या फिर हमारे फेसबुक और इंस्टाग्राम पेज से जोड़कर मैसेज करें हम आपको आपकी समस्या को हल करने में मदद करेंगे।

धन्यवाद