1500+ Kabir Ke Dohe in Hindi PDF FREE Download [2023]

साथियों, आज हम आपके लिए 1500+ Kabir Ke Dohe in Hindi PDF को लेकर आये है, इस आर्टिकल में Kabir Ke Dohe से जुड़ी समस्त जानकारी हम आपके साथ साझा करेंगे कृपया आपसे निवेदन है की इस आर्टिकल में अंत तक बने रहे आपको kabir dohe in hindi की पूरी जानकारी मिल जाएगी।

साथियों इस पीडीएफ(sant kabir dohe) फाइल में कबीर के दोहे हिंदी अर्थ सहित दिए गए हैं यानी कि दोनों के साथ में उनका अर्थ भी बताया गया है इसके साथ हमने बताया है कि संत कबीर दास कौन थे और जीवनकाल क्या रहा है और कुछ दोहे भी हमने लिख कर दिए हैं आपने पढ़ सकते हैं इसके बाद नीचे दिए गए डाउनलोड बटन पर क्लिक करके आप पीडीएफ फाइल डाउनलोड कर सकते हैं।

Kabir Ke Dohe in Hindi PDF FREE Download
Kabir Ke Dohe in Hindi PDF FREE Download

Kabir Ke Dohe in Hindi PDF: Details

यदि आप Kabir Ke Dohe in Hindi PDF को डाउनलोड करना चाहते हैं तो नीचे दिए गए डाउनलोड नाउ बटन पर क्लिक करके डाउनलोड कर सकते हैं।

PDF NameKabir Ke Dohe in Hindi PDF Download
CategoryReligion(Spiritual)
Size0.12 MB
Pages120
Website Linkwww.pdfsamadhan.com
kabir dohe in hindi with meaning
DOWNLOAD NOW

Kabir कौन थे?

संत कबीर जी, जिन्हें “कबीर दास” के नाम से भी जाना जाता है, कबीर मध्यकालीन के रहस्यवादी कवि व दार्शनिक थे, उनकी शिक्षाओं और कविताओं ने देश के सांस्कृतिक और आध्यात्मिक परिदृश्य को बदलकर रख दिया।

कबीर दास अक्सर सभी धर्म के बारे में अपनी कविताओं के द्वारा चर्चा करते थे वह उन्होंने कभी एक धर्म का साथ नहीं दिया वह सर्वधर्म समभाव पर चलने वाले प्राणी थे।

माना जाता है क्या कबीर की रहस्य और दार्शन से भरी कविताएं, बहुत ही रचनात्मक ढंग से लिखी हुई है जिनमें से “बीजक” और “कबीर ग्रंथावली” संकलित हैं।

Kabir ka प्रारंभिक जीवन और पृष्ठभूमि

कबीर दास जी का प्रारंभिक जीवन 15वीं शताब्दी में भारत के उत्तर के राज्य उत्तर प्रदेश के शहर बनारस की गलियों में हुआ, ऐसा माना जाता है कि कबीर दास जी का जन्म एक मुस्लिम परिवार में हुआ, लेकिन वह सूफी सब परंपराओं पर विश्वास करते थे वह उन्हें उसके बारे में जानना, पढ़ना, अच्छा लगता था इसलिए उन्होंने हिंदू परंपरा को अपनाया।

कबीर दास जी का प्रारंभिक जीवन कुछ हद तक करें इसमें बना हुआ है लेकिन यह व्यापक रूप में माना जाता है कि उन्हें बंद करो के परिवार के द्वारा गोद लिया गया था।

यह बहुत विचित्र है कि, हम देखते हैं हमारे आसपास कितनी नफरत है परंतु यह भी दौड़ रहा होगा जब भोलेनाथ की नगरी में जन्मे एक मुस्लिम बालक हिंदू धर्म को अपनाता है और किसी को कोई आपत्ति नहीं होती है यह कितना सुखद है।

Kabir ki आध्यात्मिक यात्रा

आध्यात्मिक यात्राएं बहुत से लोगों की हुई परंतु कबीर जी की यात्रा सबसे अलग, व रोचक हुई। ऐसा माना जाता है कि कबीर जब छोटे थे तब से ही चिंतन व मनन में खोए रहते थे, जिससे यह तो साफ था कि यह सामान्य बालक नहीं है।

जब कबीर बड़े हुए तब उन्हें जागृति का अनुभव हुआ वह सांसारिक चीजों से दूर हो गए और अपने आप को जानने की ओर चल पड़े, उन्हें आध्यात्मिक अन्वेषण के मार्ग पर चलना पसंद आ रहा था और वह चलते जा रहे थे।

उन्होंने सत्य और दिव्य अनुभूति की एक खोज की जिसने उन्हें कबीर बनने में मदद की, वह एक संत व्यक्ति बन गए इसके बाद उन्हें, कविताएं लिखना, दोहे लिखना, लोगों को सुनना, पसंद आने लगा और वह अपनी राह में आगे बढ़ गए।

Kabir द्वारा दी गई शिक्षाएं

कबीर द्वारा दी गई शिक्षाएं वास्तविक जीवन में बहुत महत्वपूर्ण है यदि आप इनमें से एक भी शिक्षा को अपने जीवन में धारण कर लेते हैं तो निश्चित है कि आप अपने जीवन में कुछ कर ले जाएंगे।

कबीर की शिक्षाओं में ईश्वर का जिक्र बहुत बार आता है, इसलिए भी क्योंकि वह आध्यात्मिक में विश्वास रखते थे, उन्होंने धार्मिक विभाजनों से पड़े देखने और ईश्वर की सार्वभौमिक उपस्थिति को पहचान के महत्व की ओर छोड़ दिया कबीर ने कभी हिंदू मुस्लिम कर समाज को नहीं देखा जिसके कारण वह इतने महान व्यक्ति बने।

हमेशा से ही कबीर, सादगी, विनम्रता, और भक्ति पर जोर दिया, यह उन्हें पसंद आता था कि वह खुद को जानने में अपने भगवान को जानने में लीन ना होना दुनिया से मतलब, ना किसी और से वह स्वयं की यात्रा पर थे।

कबीर की यात्राएं सिखाती हैं की हमेशा, स्वयं को केंद्र में रखें, अपने आप को पहचाने, अपने ईश्वर को पहचाने, और वह करें जो आपको संतुष्ट रखे।

Kabir ke Famous Dohe in hindi

Kabir Ke Dohe in Hindi PDF
Kabir Ke Dohe in Hindi PDF
कबीर कूता राम का…, मुदटया मेरा नाऊ |
गले राम की जेवडी…, जजत खींचे ततत जाऊं ||

अर्थ:

कबीर राम के र्लए काम करता है, जैसे कुत्ता अपने मालिक के लिए काम करता है, राम का नाम मोती है जो कबीर के पास है। उसने राम की जंजीर को अपनी गदषन से बांधा है और वह वहााँ जाता है जहााँ राम उसे ले जाता है।

प्रेम न बडी उपजी… , प्रेम न हाट बबकाय |
राजा प्रजा जोही रुचे… , शीश दी ले जाय ||

अर्थ:

कोई भी खेत में प्यार की फसल नहीं काट सकता, कोई बाजार में प्रेम नहीं खरीद सकता। वह जो भी प्यार पसंद करता है, वह एक राजा या एक आम आदमी हो सकता है, उसे अपना र्सर पेश करना चादहए और प्रेमी बनने के योग्य बनना चाहए।

पूत वपयारौ वपता कू… , गोहनी लागो धाई |
लोभ र्मथाई हाथथ दे… , अपन गयो भुलाई ||

अर्थ:

एक बच्चा अपने पिता को बहुत पसंद करता है, वह अपने पिता का अनुसरण करता है और उसे पकड लेता है। पिता उसे कुछ र्मठाई देते हैं। बच्चा र्मठाई का आनंद लेता है और वपता को भूल जाता है, हमें ईचवर को नहीं भूलना चाहए जब हम उसके एहसानों का आनंद लेते हैं।

कबीर कर्लजुग आई करी…, कीये बहुत जो मीत |
जजन ददलबंध्या एक सू…, ते सुखु सोवै तनचीतं ||

अर्थ:

इस कलयुग में लोग कई दोस्त बनाते हैं, जो भगवान की पूजा करते हैं वे बिना किसी चिंता के सोते हैं।

कामी लज्या ना करई…, मन माहे अहीलाड |
नींद ना मगई संतरा…, भूख ना मगई स्वाद ||

अर्थ:

जुनून की चपेट में व्यक्ति को नींद नहीं आती, जो नींद में है उसे बिस्तर की परवाह नहीं करता है और जो बहुत भूखा है, वह अपने स्वाद के बारे में परेशान नहीं है।

चतुराई सूवई पडी… , सोई पंजर माही |
कफरी प्रमोधाई आन कौ… , आपन समझाई नाही ||

अर्थ:

एक तोता दौड़ आता है, जो भी ज्ञान बढ़ाया जाता है परंतु खुद को पिंजरे से बाहर नहीं निकल पाता है लोगों ने आज बहुत ज्ञान प्राप्त किया है परंतु वह खुद को बाहर निकलने में विफल है।

कबीरा यह तन जात है… , सके तो ठौर लगा |
कई सेवा कर साधू की… , कई गोववन्द गुण गा ||

अर्थ:

कबीर कहते हैं कि हमारा यह शरीर मृत्यु के करीब पहुंच रहा है हमें कुछ सार्थक करना चाहिए, हमें अच्छे लोगों की सेवा करनी चाहिए हमें भगवान के गुना को याद करना चाहिए।

दोस्तों यह थे कुछ Kabir das ji ke dohe, जिन्हें हमने आपको अर्थ सहित बताया यदि आपको, किसी अर्थ में त्रुटि लगती हो तो आप हमें कमेंट कर अवश्य बताएं।

Kabir Ke Dohe in Hindi: Video

Kabir Ke Dohe in Hindi PDF FREE Download

Conclusion

यदि संपूर्ण जानकारी Kabir Ke Dohe in Hindi PDF FREE Download के बारे में यदि आपको, यह kabir dohe पसंद आए हो तो आप हमें अवश्य बताएं और यदि आपको kabir dohe in hindi with meaning PDF डाउनलोड करने में कोई समस्या आती हो तो आप हमें अवश्य बताएं हमारी टीम आपकी इस समस्या को जल्द से जल्द करने का प्रयास करेगी।

साथ ही यदि आपको हमारी इस वेबसाइट से लाभ मिल रहा हो तो आप हमारे इस वेबसाइट को अपने फोन में सेव कर सकते हैं साथ ही हमें सोशल मीडिया पर फॉलो कर सकते हैं।

धन्यवाद

Also, read

Leave a comment